सीखें इंटीरियर कोर्स - पार्ट XV- फ्लोरिंग के विकल्प(Flooring options) Interior Design

सीखें इंटीरियर कोर्स - पार्ट XV- फ्लोरिंग के विकल्प(Flooring options) Interior Design

फ्लोरिंग के आज कल बहुत सारे विकल्प  मौजूद हैं,जिसकी वजह से उपभोक्ता को यह समझने में बहुत ही परेशानी का सामना करना  पड़ता है, कि वह कौन से ऐसे विकल्पों का चुनाव करे,जो  लिए उपयुक्त हो। 
इसका निर्णय मुख्यतः इस बात पर निर्धारित किया जा सकता है कि उपभोक्ता का इस्तेमाल करने का प्रायोजन क्या है व इसका प्रयोग कितने समय को ध्यान में रख कर किया जा रहा है। 

There are many options of flooring nowadays, due to which the consumer has to face a lot of difficulty in understanding which options to choose which are suitable for them.
Its decision can be determined mainly on what sponsorship is used by the consumer and how long it is being used keeping in mind.

वुडेन फ्लोरिंग :- आज कल हमारे  इंटीरियर में फ्लोर में पत्थर व् टाइल्स के बाद जिस चीज का सबसे ज्यादा इस्तेमाल  किया जाता है वह वुडेन फ्लोरिंग है,यह  बहुत ही अच्छा दिखने के साथ ज्यादा चलने वाला भी होता है। पर  भारत में नमी के ज्यादा होने की वजह से कई उपभोक्ता इसके  इस्तेमाल में असमंजस में दिखते है,जबकि आजकल ये फ्लोरिंग 15 से 20 साल तक की गॉरन्टी के साथ उपलब्ध  हैं। 
यह एंटी लॉकिंग होने की वजह से  बहुत आसानी से इंस्टाल किया जाता है,इसे  इंसटाल करने में ज्यादा  गन्दगी नहीं होती है। यह काफी अलग अलग मूल्य में उपलब्ध होती है, जो 80 रूपए से शुरू होकर 400 रूपए प्रति स्क्वायर फ़ीट तक मिलती है। इसकी मोटाई 1.5 एम् एम् से 2.0 एम् एम् तक होती है। 

wooden%2Bflo.jpg
Wooden Flooring -Whystuck (Interior) 
अपने घर मे इंटीरियर डिज़ाइनर का काम कराने के लिए अभी विजिट करें https://www.whystuck.in/ या पार्ट टाइम कमाने के लिए जुड़े https://www.whystuck.in/apply_job.php अपनी योग्यता के हिसाब से। 

Wooden Flooring: - Nowadays the thing which is most used after the stone and tiles in the floor in our interior is the wooden flooring, it looks very good and it is also very moving. But due to the high moisture content in India, many consumers seem to be confused with its use, whereas nowadays these floors are available with guarantees ranging from 15 to 20 years.
It is very easy to install due to its anti-locking, it does not take much to install. It is available in quite different prices, starting from Rs 80 to Rs 4 00 per square feet. Its thickness varies from 1.5mm to 2.0mm.

इस्तेमाल करने से पूर्व कुछ विशेष बातें जो जरूर ध्यान में रखनी चाहिए  इस्तेमाल करने  पहले 48 घण्टे से 72 घण्टे तक इन्हे जिसलगाना हो वहाँ पर इनकी अनबॉक्सिंग करके जिस कमरे में लगनी हैं,वहां पर छोड़ देनी चाहिए ताकि यह उस क्लाइमेट के अनुरूप आसानी से ढल जाये।  फ्लोरिंग करने से पहले यह भी ध्यान में जरूर रखे कि अगर कर्मरे में डैम्प है ,तो आप सबसे  ट्रीटमेंट जरूर करा लें। 

wooden1.jpg
Wooden Flooring -Interior 
Before using, there are some special things that must be kept in mind, before using them for 48 hours to 72 hours, they should be unboxed and left in the room where they are to be installed so that it can easily adapt to that climate. Go Before flooring, it should also be kept in mind that if there is a damp in the work, then you must get the most treatment.

विनायल फ्लोरिंग :- विनायल फ्लोरिंग एक ऐसी फ्लोररिंग है,जो बिना ज्यादा गन्दगी फैलाए आसानी से एक दिन में भी आसानी से की जा सकती है।  इसका जहाँ पर यह संभव नहीं  होता कि फर्श तोड़ कर  बनाया जाये,जिनमे मार्बल का घिस जाना ,टाइल्स का टूट जाना , सीमेंट फर्श में दरारे आना शामिल  है। यह काफी अलग अलग मूल्य में उपलब्ध होती है, जो 35 रूपए से शुरू होकर 100 रूपए प्रति स्क्वायर फ़ीट तक मिलती है। इसकी मोटाई 1.5 एम् एम् से 2.0 एम् एम् तक होती है। 
 
VNYL1.jpg

Copyright 2019. © All rights reserved.

Terms & Conditions | Privacy Policy